आंतकी हमले में आंखों की रोशनी खो चुके BSF जवान के घर पहुंचें राजनाथ सिंह, साथ में किया लंच

0
63

भोपाल। गृहमंत्री राजनाथ सिंह के एक पहल ने देशवासियों का दिल जीत लिया। राजनाथ सिंह ने उग्रवदियों के साथ मुठभेड़ में अपनी आंखों की रोशनी गंवा चुके बीएसएफ जवान के घर अचानक पहुंच कर सबको हैरान कर दिया। गृहमंत्री न केवल वहां पहुंचे बल्कि उन्होंने वहां उनके साथ लंच भी किया। उनके साथ वक्त बिताया। उनके इस पहल से न केवल बीएफएफ जवान संदीप मिश्रा हैरान रह गए बल्कि जिसने भी इसके बारे में सूना उसका दिल खुशी से भर गया।

दरअसल गृहमंत्री राजनाथ सिंह मध्यप्रदेश के टेकनपुर स्थित BSF अकैडमी के दौरे पर थे। अकैडमी से ग्रैजुएट होने वाले असिस्टेंट कमांडेंट की पासिंग आउट परेड में वो शामिल हुए। वहां उन्होंने बीएसएफ जवान संदीप मिश्रा के बारे में पूछा और अपने व्यस्त कार्यक्रम से इतर उनके घर पहुंच गए। वहां उन्होंने संदीप मिश्रा के परिवार के साथ 1 घंटे का वक्त बिताया और उन के आग्रह करने पर उनके साथ दिन का लंच किया। उन्होंने संदीप के साहस और शौर्य की तारीफ की। वहीं संदीप मिश्रा की पत्नी इंद्राक्षी के त्याग और समर्पण की भी तारीफ की।

आपको बता दें कि बीएसएफ सहायक कमांडेंट संदीप मिश्रा की 2000 में असम में उग्रवादियों के हमले में आंखों की रोशनी चली गयी थी। इस हमले में उन्होंने अपनी दोनों आंखे खो दी। लेकिन इंद्राक्षी ने दिव्यांग होने के बावजूद 4 साल बाद संदीप से शादी की। दोनों की एक बेटी भी है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह की दिल को छू लेने वाली पहल ने लोगों को भावुक कर दिया। उन्होंने अपने ट्विटर पर संदीप और उनकी पत्नी के साथ फोटो भी शेयर की और लिखा कि यह देश के प्रति उनका प्यार है जो संदीप और इंद्राक्षी को एकसाथ जोड़ता है। टेकनपुर में उनके घर में भोजन कर काफी प्रसन्नता हुई। उन्होंने लिखा के बीएसएफ के अधिकारी को अपनी पत्नी से शक्ति मिलती है जिन्होंने उनके दिव्यांग होने के बावजूद उनसे शादी की।

LEAVE A REPLY