एएसआई को मिलेंगे चालानी कार्रवाई करने के अधिकार

0
60

भोपाल। प्रदेश में चालान की कार्रवाई करने का अधिकार अब एएसआई (सहायक उप पुलिस निरीक्षक) को होगा। इस पर शुक्रवार को मंत्रालय में हुई राज्य सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में सहमति बनी। बैठक में यह भी तय किया गया कि जिला स्तरीय सुरक्षा समिति के उपाध्यक्ष पुलिस अधीक्षक होंगे। गौरतलब है कि अभी तक थानेदार स्तर के अधिकारी को ही चालानी कार्रवाई का अधिकार था।

अपर मुख्य सचिव गृह केके सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में बताया गया कि सड़क दुर्घटनाओं में घायलों के इलाज के लिए 32 ट्रॉमा सेंटर काम कर रहे हैं। 43 की बिल्डिंग तैयार की जा चुकी है।

अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि ट्रॉमा सेंटर के जरिए कितने लोगों को बचाया गया, इसकी जानकारी दी जाए। इंदौर में ड्राइविंग लायसेंस ट्रैक सेंटर बन चुका है।

37 जिलों के ऑफिस में ट्रैक बनकर तैयार हैं। बैठक में जिला स्तरीय समिति में पुलिस अधीक्षक को उपाध्यक्ष बनाने का फैसला करते हुए निर्देश दिए गए कि संभाग और जिला मुख्यालय में नियमित बैठकें बुलाई जाएं।

अधिकारियों ने बताया कि संचालक लोक शिक्षण ने राज्य शिक्षा केंद्र को सड़क सुरक्षा पर जागरूकता विषय स्कूली शिक्षा के कोर्स में शामिल करने पत्र लिखा है। इसके अलावा यह भी बताया गया कि देवास बायपास छह लेन बनाया जाएगा।

चालान बनाकर 14 करोड़ रुपए से ज्यादा वसूले

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 11 मार्च से 11 जून तक बिना हेलमेट वाहन चलाने वाले 2 लाख 34 हजार 521 लोगों के खिलाफ चालान बनाकर 6 करोड़ 38 लाख 24 हजार 800 रुपए वसूले गए। इसी दौरान 277 नाबालिग वाहन चालाकों को पकड़ा गया। 3 लाख 86 हजार 300 रुपए का चालान काटा गया। 15 अप्रैल से 30 जून तक जो विशेष अभियान चलाया था, उसमें 1 लाख 96 हजार 561 चालान बनाकर 4 करोड़ 91 लाख 85 हजार रुपए शुल्क वसूला गया।

शराब पीकर वाहन चलाने वाले चालकों के खिलाफ जून से जुलाई के बीच चलाए गए अभियान में 4 हजार 726 चालान बनाकर कोर्ट में प्रस्तुत किया गया और 556 मामले ड्राइविंग लायसेंस निलंबित करने परिवहन अधिकारी को भेजे गए। बैठक में पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला, प्रमुख सचिव परिवहन एसएन मिश्रा, परिवहन आयुक्त शैलेन्द्र श्रीवास्तव, स्वास्थ्य सचिव कवीन्द्र कियावत, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विजय कटारिया मौजूद थे।

LEAVE A REPLY