कश्मीर की वादियों में पर्यटकों के लिए खुला ट्यूलिप गार्डन

0
172

श्रीनगर: एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन आज यहां पर्यटकों के लिए खुल गया और इसके साथ ही घाटी में पर्यटन के नये सीजन की शुरआत हो गयी। विश्व प्रसिद्ध डल झील का मनमोहक नजारा पेश करने वाले इस गार्डन में 46 किस्म के 20 लाख ट्यूलिप फूल खिलते हैं। इस गार्डन के खुलने के साथ ही ‘बहार-ए-कश्मीर’ (कश्मीर में वसंत) समारोह के हिस्से के तौर पर 15 दिवसीय ट्यूलिप उत्सव की शुरआत हो गई है। गत वर्ष जुलाई में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद हुई हिंसा के कारण पर्यटन बुरी तरह प्रभावित हुआ था जिसके बाद प्रशासन पर्यटन क्षेत्र को फिर से खड़ा करने पर ध्यान लगा रहा है।

औपचारिक तौर पर शिराज बाग के नाम से पहचाने जाने वाला इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्यूलिप गार्डन का उद्घाटन 2008 में तत्कालीन मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने किया था।  बर्फ की चादर से ढके जारबान रेंज की पहाडिय़ों में 30 हेक्टेयर के इलाके में फैले इस गार्डन की शुरआत घाटी में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए की गयी थी।  गत वर्ष करीब 1.75 लाख पर्यटकों ने गार्डन का दीदार किया था जिससे 58 लाख रुपए का राजस्व एकत्रित हुआ था।

पर्यटन विभाग के अधिकारी ने कहा, ‘‘बारिश के बावजूद ट्यूलिप गार्डन आम लोगों के लिए खुल गया है। ट्यूलिप उत्सव के साथ घाटी में खुशनुमा मौसम होने के कारण हमें इस बार गार्डन में पर्यटकों की संख्या तीन लाख के पार जाने की उम्मीद है।’’ ट्यूलिप फूल की औसत आयु तीन से चार सप्ताह की होती है लेकिन भारी वर्षा या अत्यधिक गर्मी से ये मुरझा सकते हैं

LEAVE A REPLY