गरीब बुजुर्गों को मुफ्त चश्मा और व्हीलचेयर

0
122

नई दिल्ली। गरीबी रेखा से नीचे गुजर-बसर करने वाले देश के करोड़ों वरिष्ठ नागरिकों के लिए अच्छी खबर है। केंद्र सरकार इनके लिए विशेष ‘राष्ट्रीय वयोश्री योजना’ लांच करने जा रही है। इसके तहत चश्मा, व्हीलचेयर, श्रवण यंत्र जैसे उपकरण मुफ्त मुहैया कराए जाएंगे। 477 करोड़ रुपये की योजना की शुरुआत आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले से 25 मार्च को की जाएगी।

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत और सूचना-प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू योजना को औपचारिक तौर पर लांच करेंगे। मध्य प्रदेश के उज्जैन में 26 मार्च को ऐसा ही एक शिविर लगाया जाएगा।

दोनों जगह बीपीएल श्रेणी के बुजुर्गों को जरूरी उपकरण मुफ्त दिए जाएंगे। सामाजिक मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया की महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय वयोश्री योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक तौर पर कमजोर उम्रदराज लोगों को सक्रिय जीवन में वापस लाना है।

जीवन के अंतिम वर्षों में सामान्य जिंदगी व्यतीत करने और बुजुर्गों के अनुकूल समाज बनाने के लिए उन्हें जरूरी उपकरण मुहैया कराए जाएंगे। सरकार का उद्देश्य हर शिविर में दो हजार बुजुर्गों को उपकरण वितरित करना है।

इस अधिकारी ने बताया कि नेल्लोर और उज्जैन के बाद प्रत्येक राज्य के दो जिलों में मुफ्त उपकरण वितरित करने के लिए शिविर लगाए जाएंगे। सामाजिक न्याय मंत्री ने पिछले साल दिसंबर में सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर लाभार्थियों की पहचान करने को कहा है।

मानकों के अनुकूल होंगे उपकरण शिविर में बुजुर्गों को वितरित किए जाने वाले उपकरण भारतीय मानक ब्यूरो (बीआइएस) के मानदंडों के अनुरूप होंगे। इसके तहत आरामदायक जूते, बैसाखी, कृत्रिम दांत, व्हीलचेयर, श्रवण यंत्र, चश्मा, ट्रायपॉड, लोकोमोटर असमर्थता से निपटने वाले यंत्र समेत अन्य उपकरण मुफ्त दिए जाएंगे।

जनवरी में लांच करने की थी योजना राष्ट्रीय वयोश्री योजना को जनवरी में लांच करने की तैयारी थी, लेकिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों को देखते हुए इसे टाल दिया गया। वर्ष 2011 के जनगणना के मुताबिक देश भर में 10.38 करोड़ वरिष्ठ नागरिक हैं। इनमें से 5.2 फीसद बुजुर्ग उम्र संबंधी निशक्तता से ग्रसित हैं।

वर्ष 2026 तक बुजुर्गों की आबादी 17 करोड़ से ज्यादा होने का अनुमान है। योग्यता भी तय योजना के तहत लाभ पाने वालों के लिए न्यूनतम योग्यताएं भी निर्धारित की गई हैं।

इसका लाभ लेने वालों की उम्र 60 साल या उससे ज्यादा होना चाहिए। साथ ही उनका बीपीएल श्रेणी से होना भी अनिवार्य है। अधिकारियों की मानें तो सामाजिक विभाग ने प्रधानमंत्री कार्यालय को तीन नामों का सुझाव दिया था, जिनमें राष्ट्रीय वयोश्री योजना का चयन किया गया।

LEAVE A REPLY