छिंदवाड़ा में छेड़छाड़ से परेशान छात्रा फांसी पर झूली

0
146

छिंदवाड़ा (ब्यूरो)। कोतवाली थाना क्षेत्र के नया बैल बाजार क्षेत्र में मंगलवार शाम को कक्षा 9 वीं की एक छात्रा फांसी के फंदे पर झूलती हुई मिली। बहरहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है। इधर मृतका के पिता का आरोप है- पिछले कुछ दिनों से क्षेत्र के युवकों द्वारा उसकी बेटी को परेशान किया जा रहा था। मंगलवार शाम को भी जब बेटी घर से बाहर निकली तो युवकों ने छेड़छाड़ की। जिससे परेशान होकर उसकी बेटी ने जान दे दी।

कोतवाली थाना प्रभारी सुमेर सिंह जगेत ने बताया कि नया बैल बाजार क्षेत्र में रहने वाली शिवानी पिता भन्‍नू विश्‍वकर्मा उम्र 17 साल के परिजनों ने बताया कि मंगलवार की शाम को घर में कोई भी नहीं था। इस दौरान जब रात में करीब 7.30 बजे परिवार के सदस्य घर लौटकर आए तो देखा कि शिवानी घर के अंदर फांसी के फंदे पर लटकी हुई है। जिसे तत्काल ही फांसी के फंदे से उतारकर जिला अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सकों ने जांच के उपरांत शिवानी को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने मर्ग कायम किया और जांच शुरू कर दिया। मृतका शिवानी के पिता ने मीडिया को बताया कि शिवानी 9 वीं कक्षा की पढ़ाई कर रही थी। जो रोजाना की तरह शाम को घर से बाहर निकली तो उसके साथ हमेशा की तरह क्षेत्र में रहने वाले युवकों ने छेड़छाड़ की। इस बात से परेशान होकर नाबालिग ने फांसी लगाकर खुदकुशी की है।

छेड़छाड़ से परेशान युवती नहीं दे पाई थी दसवीं कक्षा का पेपर

जिले के तेजतर्रार पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी के छिंदवाड़ा आने के बाद से लोगों में उम्मीद जागी थी कि अपराधों में कमी आएगी। साथ ही महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार भी कम होंगे, लेकिन एक पखवाड़े के भीतर ही जिले में दो छेड़छाड़ के मामले सामने आए और जिसमें एक मामले में युवती दसवीं कक्षा का पेपर नहीं दे पाई थी।

साथ ही दूसरे मामले में शहर के नया बैल बाजार निवासी नाबालिग ने छेड़छाड़ से परेशान होकर खुदकुशी कर ली। रावनवाड़ा थाना क्षेत्र में रहने वाली एक दसवीं कक्षा की छात्रा के साथ भी लगातार छेड़छाड़ हो रही थी। इस बात की शिकायत थाने में दर्ज करवाई गई थी लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। लगातार छेड़छाड़ से परेशान हुई युवती दसवीं कक्षा का पेपर नहीं दे पाई थी।

इनका कहना है

यह संगीन मामला है यह संगीन मामला है। इस मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

गौरव तिवारी, एसपी, छिंदवाड़ा

LEAVE A REPLY