जुनैद मर्डर केस: मुख्य आरोपी ने गुनाह कबूला, पुलिस ने कहा- नहीं था बीफ विवाद

0
39

फरीदाबाद रेलवे पुलिस और क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव की टीम को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी. जुनैद हत्याकांड मामले में मुख्य आरोपी को महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर लिया गया. उसे देर रात पुलिस ने सरकारी अस्पताल में उसका मेडिकल कराया गया. आरोपी ने गुनाह कबूल कर लिया है. इस बीच हिंसा में बीफ से जुड़े विवाद से पुलिस ने इंकार किया है. पुलिस ने कहा है कि झगड़ा सीट को लेकर हुआ था.

हरियाणा जीआरपी के एसपी कुलदीप ने इस बारे में रविवार को कहा, योजनाबद्ध जांच के दौरान मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. इसके लिए हमने कोई समय सीमा नहीं तय की थी. हमने कम समय में ही अभियान को अंजाम दिया है.

जुनैद हत्याकांड में फरीदाबाद में रेलवे पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले के बारे में जानकारी दी. रेलवे एसपी कमलदीप गोयल ने कहा कि मुख्य आरोपी की उम्र करीब 30 साल है और उसने चाकू मारकर जुनैद की हत्या की बात कबूली.

एसपी गोयल की प्रमुख बातें –

एसपी गोयल ने बताया, ओखला स्टेशन से सीट को लेकर झगड़ा शुरू हुआ था. वारदात के बाद आरोपी कुछ दिन अपने घर रहा. वह मथुरा और वृंदावन भी गया था. मुख्य आरोपी बाइक से फरार हुआ था. उसके अन्य दो साथियों की तलाश की जा रही है. अभी मुख्य आरोपी से चाकू और अन्य साथियों की जानकारी लेना बाकी है.

उन्होंने बताया, मुख्य आरोपी एक कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी कर रहा था. उसे कोर्ट में पेशी के बाद रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी. कोर्ट से तीन दिन का पुलिस रिमांड लेने की कोशिश की जा रही है. पूछताछ में और खुलासा होने की उम्मीद है. उन्होंने यह भी कहा कि रेलवे यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर ट्रेनों में सीसीटीवी लगाने के बारे में विचार कर रही है.

जुनैद हत्याकांड के मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के बाद जहां पुलिस ने राहत की सांस ली है, वहीं जुनैद के गांव में भी सूचना मिलते ही लोगों में संतुष्टी नजर आई. जुनैद के पिता ने आरोपी को मौत की सजा देने की मांग की है.

क्या हुआ था जुनैद के साथ ?
असल 22 तारीख की शाम को गाजियाबाद- मथुरा ईएमयू ट्रेन में सीट को लेकर हुए विवाद में एक युवक की हत्या कर दी गई. इसके अलावा दो अन्य युवकों को घायल कर दिया गया था. इसके बाद से लगातार रेलवे पुलिस और फरीदाबाद पुलिस की क्राइम ब्रांच मामले के खुलासे में लगी थी.

रेलवे पुलिस ने पहले हत्याकांड का सुराग देने वाले शख्स को एक लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की. जब बात नहीं बनी तो इनाम को बढ़ाकर दो लाख कर दिया गया. सीआईए ऊंचा गांव और रेलवे पुलिस की टीम ने संयुक्त रूप से महाराष्ट्र के धुलिया जिले में जाकर मुख्य आरोपी नरेश को गिरफ्तार कर लिया.

नरेश पलवल के भमरौला गांव का रहने वाला है. डीएसपी महेंद्र वर्मा की मानें तो आरोपी वहां अपने किसी परिचित के यहां गया हुआ था. रविवार दोपहर को आरोपी को फरीदाबाद के जिला कोर्ट में पेश किया गया.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी नरेश लिफ्ट लेकर असावटी स्टेशन से फरार हो गया था. जांच के दौरान पुलिस ने आसपास के गांव और ट्रेन में रोजाना सफर करने वाले करीब 700 लोगों से पूछताछ की. आखिरकार पुलिस के सामने नरेश का नाम मुख्य आरोपी के तौर पर सामने आया. डीएसपी रेलवे महेंद्र वर्मा ने कहा, यह जीआरपी और क्राइम ब्रांच की टीमों की संयुक्त कामयाबी है.

LEAVE A REPLY