देशभर में 12 जुलाई को बंद रहेंगे पेट्रोल पंप

0
47

नई दिल्ली। ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन (एआईपीडीए) ने 12 जुलाई को देशभर में हडताल करने का फैसला किया है। इसके चलते 12 जुलाई को लोगों को पेट्रोल और डीजल की किल्लत का सामना करना पड़ सकता है।

अपनी मांगे पूरी नहीं होते देख एआईपीडीए ने 12 जुलाई को कोई खरीदी नहीं और कोई बिक्री नहीं करने का निर्णय लिया। यह हड़ताल पूरे देश में लागू होगी। एसोसिएशन का कहना है कि प्रतिदिन पेट्रोल तथा डीजल के भाव बदलने के चलते एसोसिएशन के सदस्यों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इससे पहले मार्केटिंग कंपनियों द्वारा 15 दिनों में भाव बदले जाते थे।

डीजल-पेट्रोल में प्रतिदिन होने वाले भाव परिवर्तन की नीति बदलने, कमीशन में बढ़ोतरी के साथ ही ऑटोमेशन पेनल्टी क्लॉज में बदलाव की मांग पर पंप डीलर्स ने देशव्यापी आंदोलन की घोषणा की है।

इसके तहत पांच जुलाई को नो परचेज डे होगा। इसमें कंपनी से कोई माल नहीं लिया जाएगा। इसके चलते अगले दिन पंपों पर ईंधन की किल्लत हो सकती है। 12 जुलाई को पंप पूरी तरह बंद रहेंगे न कंपनियों से माल खरीदा जाएगा न ग्राहकों को बेचा जाएगा।

डीजल-पेट्रोल में प्रतिदिन होने वाले भाव परिवर्तन की नीति, कमीशन में बढ़ोतरी के साथ ही ऑटोमेशन पेनल्टी क्लॉज में बदलाव की मांग पर पंप डीलर्स ने देशव्यापी आंदोलन की घोषणा की है। 12 जुलाई को पंप पूरी तरह बंद रहेंगे न कंपनियों से माल खरीदा जाएगा न ग्राहकों को बेचा जाएगा।

नई दिल्ली। ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन (एआईपीडीए) ने 12 जुलाई को देशभर में हडताल करने का फैसला किया है। इसके चलते 12 जुलाई को लोगों को पेट्रोल और डीजल की किल्लत का सामना करना पड़ सकता है। अपनी मांगे पूरी नहीं होते देख एआईपीडीए ने 12 जुलाई को कोई खरीदी नहीं और कोई बिक्री नहीं करने का निर्णय लिया। यह हड़ताल पूरे देश में लागू होगी। एसोसिएशन का कहना है कि प्रतिदिन पेट्रोल तथा डीजल के भाव बदलने के चलते एसोसिएशन के सदस्यों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इससे पहले मार्केटिंग कंपनियों द्वारा 15 दिनों में भाव बदले जाते थे। डीजल-पेट्रोल में प्रतिदिन होने वाले भाव परिवर्तन की नीति बदलने, कमीशन में बढ़ोतरी के साथ ही ऑटोमेशन पेनल्टी क्लॉज में बदलाव की मांग पर पंप डीलर्स ने देशव्यापी आंदोलन की घोषणा की है। इसके तहत पांच जुलाई को नो परचेज डे होगा। इसमें कंपनी से कोई माल नहीं लिया जाएगा। इसके चलते अगले दिन पंपों पर ईंधन की किल्लत हो सकती है। 12 जुलाई को पंप पूरी तरह बंद रहेंगे न कंपनियों से माल खरीदा जाएगा न ग्राहकों को बेचा जाएगा। डीजल-पेट्रोल में प्रतिदिन होने वाले भाव परिवर्तन की नीति, कमीशन में बढ़ोतरी के साथ ही ऑटोमेशन पेनल्टी क्लॉज में बदलाव की मांग पर पंप डीलर्स ने देशव्यापी आंदोलन की घोषणा की है। 12 जुलाई को पंप पूरी तरह बंद रहेंगे न कंपनियों से माल खरीदा जाएगा न ग्राहकों को बेचा जाएगा।

LEAVE A REPLY