पुलिस कार्रवाई से नीमच पोस्ता मंडी में कामकाज प्रभावित, भावों में भारी गिरावट

0
47

दुनियाभर में काले सोने (अफीम) के उत्पादन के लिए मशहूर मध्यप्रदेश के नीमच में इन दिनों पोस्ता कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है. डोडा-पोस्ता मंडी  में इन दिनों कामकाज प्रभावित है. पोस्त और डोडा चूरा के भावों में भी 5 से 8 हजार रुपए की गिरावट दर्ज की गई है. नीमच के नामी पोस्ता कारोबारी मुकेश अग्रवाल के खिलाफ हरियाणा पुलिस की कार्रवाई को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है.

जानकारी के अनुसार मुकेश अग्रवाल को हरियाणा पुलिस ने 66 टन पोस्ता दाना और 144 किलो चूरा पोस्त (धोलपाली) के साथ गिरफ्तार किया था. इसके बाद से नीमच के पोस्ता कारोबारियों में हड़कंप सा मचा हुआ है. हरियाणा पुलिस की इस कार्रवाई के चलते नीमच की पोस्ता मंडी वीरान सी हो चुकी है. बड़े व्यापारियों ने पोस्ता खरीदी से अपने हाथ खींच लिए है. जिसकी वजह से भावो में जहां एकदम से 5 से 8 हजार रुपए की गिरावट आने के चलते किसान अपना माल वापस ले जा रहे हैं.

गौरतलब है की प्रदेश सरकार ने दो सालों से डोडाचूरे के ठेके नहीं दिए हैं. इसके साथ ही पोस्तादाने को भी छानने के लाइसेंस भी व्यापारियों को जारी नहीं हुए. लेकिन कुछ व्यापारी पोस्त छान कर निकलने वाले चूरापोस्त का अवैध कारोबार कर रहे थे. इस मामले में व्यापारियों की भी एक बड़ी दिक्कत सामने आई है. जिसमें उन्हें अपने पोस्ते को बाजार में बेचने के लिए उसे छानना ही पड़ता है. उसमें चूरापोस्त निकलेगा ही जिसे लेकर कोई स्पष्ट नीति नहीं है की उसका क्या किया जाए. ऐसे में व्यापारियों का कहना है की वे अपने व्यापार को करने में असमर्थ हैं, इसीलिए नीमच मंडी में नीलामी में हिस्सा नहीं ले रहे हैं.

LEAVE A REPLY