पेंशनरों ने लिखा अमित शाह को पत्र, लगाए सरकार पर कई गंभीर आरोप

0
55

भोपाल। सातवें वेतनमान के लाभ से अलग रखे जाने को लेकर पेंशनर राज्य सरकार से नाराज है और इसी नाराजगी के चलते पेंशनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने प्रदेश के दौरे पर आ रहे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाया है।

पेंशनर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष गणेशदत्त जोशी ने बुधवार को लिखे पत्र में लिखा है कि प्रदेश के गठन के बाद पहली बार सरकार ने नए वेतनमान संबंधित आदेश में पेंशनरों को शामिल नहीं किया। जबकि पूर्व में जब भी नए वेतनमान के आदेश जारी हुए हैं उसमें राज्य के नियमित कर्मचारियों के साथ-साथ पेंशनरों को भी शामिल किया जाता रहा है। लाभ भी दोनों को एक साथ मिलता आया है। इस बार सरकार ने आदेश में पेंशनरों को शामिल नहीं किया है जो कि पेंशनरों के साथ भेदभाव है। एसोसिएशन के उपाध्यक्ष ने अमित शाह से मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है और केंद्र की तरह राज्य के पेंशनरों को भी सातवें वेतनमान का लाभ देने की मांग की है।

इन कारणों के चलते पेंशनरों की उपेक्षा 

1- सरकार आर्थिक तंगी से जूझ रही है। ऐसे में पेंशनरों को सातवें वेतनमान देने के आदेश जारी किए जाते तो अधिक बोझ पड़ता। इसलिए सरकार एक साथ आदेश जारी करने से बच गई।

2- एक पेंशनर्स पदाधिकारी की सरकार के कुछ मंत्रियों से अनबन चल रही है। यह मामला मुख्यमंत्री के संज्ञान में भी है। बताया जाता है कि उक्त पदाधिकारी ने सरकार की खिलाफत में पर्चे बंटवा दिए थे। हालांकि पेंशनर्स संघ ने उक्त पदाधिकारी को हटा दिया है। कुछ पेंशनरों का कहना है कि सरकार को किसी एक पदाधिकारी से अनबन के चलते साढ़े तीन लाख पेंशनरों का नुकसान नहीं करना चाहिए।

LEAVE A REPLY