बनारस में दिनदहाड़े सबसे बड़ी डकैती, 10 करोड़ के जेवरात लूटे

0
77

चौक थाने से महज 50 मीटर दूर आभूषण की मंडी ठठेरी बाजारा में सराफा के यहां शनिवार को दिनदहाड़े डकैती पड़ गयी। छह की संख्या में पहुंचे डकैतों ने व्यापारी और उनके चार कर्मचारियों को असलहे की नोक पर बंधक बना लिया। इसके बाद तिजोरी में रखे करीब दस करोड़ के आभूषण ले गए। घटना से सराफा मंडी में हड़कम्प मच गया। वारदात के विरोध में व्यापारियों ने प्रदर्शन और रास्ताजाम भी किया। बनारस के इतिहास की यह सबसे बड़ी डकैती है।

चौक से ठठेरी बाजार गली में घुसते ही प्रहलाद अग्रवाल और उनके भाई संजय अग्रवाल की सीताराम सराफ नामक फर्म है। चार मजिले मकान के प्रथम तल पर दुकान और ऊपरी मंजिलों में परिवार के लोग रहते हैं। घटना के समय दुकान में संजय अग्रवाल और चार कर्मचारी थे। शाम 4.20 बजे दो बदमाश ग्राहक बनकर ऊपर चढ़े। बदमाशों ने संजय से सोने का लॉकेट दिखाने को कहा। अभी कर्मचारी लॉकेट निकाल रहे थे तब तक चार और बदमाश पहुंचे और अचानक सभी ने असलहे निकाल लिये।

पिस्टल व चाकुओं की नोक पर दुकान मालिक और कर्मचारियों को बंधक बना लिया। सीसीटीवी कैमरे, तार और हार्डडिस्क नोच दिया और जान से मारने की धमकी देते हुए संजय को तिजोरी खोलने को कहा। सहमे संजय ने तिजोरी खोल दी। इसके बाद बदमाश तिजोरी के चार खानों में रखे सोने व हीरे के जेवरात काले बैग में भरकर भाग निकले। बदमाशों के जाते ही संजय ने शोर मचाया तब परिवारवालों और आसपास के व्यवसायियों को जानकारी हुई। हालांकि संजय का कहना था कि आठ करोड़ से अधिक का माल डकैत ले गये हैं। वास्तत में कितने के गहने लूटे गये हैं यह आभूषणों के मिलान के बाद ही बताया जा सकता है।

डकैती की सूचना पर आईजी जोन एन.रवींदर व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। एसटीएफ और क्राइम ब्रांच भी पहुंची और घटना की पड़ताल शुरू कर दी।

LEAVE A REPLY