ब्रिटिश सिख के पासपोर्ट पर सैकड़ों अफगानी शरणार्थी लंदन में घुसे

0
86

लंदन। सैकड़ों अफगानिस्तान के शरणार्थी ब्रिटिश सिखों के पासपोर्ट का उपयोग करते हुए यूके में घुस गए हैं। कारण उनके फोटो आईडी पर लगी पगड़ी को देखकर सीमा अधिकारी अंतर नहीं कर पाते थे।

सीमावर्ती अधिकारियों ने कहा कि अवैध आप्रवासियों और वास्तविक पासपोर्ट धारकों के बीच भेद करने में कठिनाई होती है क्योंकि सिख पुरुषों को अपने आईडी दस्तावेजों में पगड़ी पहनने की अनुमति है।

इस मामले में तीन सिख लोगों दलजीत कपूर (41), हरमित कपूर (40) और दविन्दर चावला (42) ने स्वीकार किया है कि वे एक स्कैम कर रहे थे। इसके तहत वे युद्धग्रस्त इलाके में फंसे सिखों को ब्रिटेन में रह रहे उन लोगों के पासपोर्ट मुहैया कराते थे, जो उनके जैसे दिखते थे।

अफगान सिख समुदाय के लगभग 30 लोगों को ब्रिटेन में सफलता मिल गई। बताया जा रहा है कि इसके लिए हर परिवार ने इन तीनों को 12,000 पाउंड का भुगतान किया था। मगर, अधिकारियों का मानना ​​है कि लंदन में ऐसे सैकड़ों लोग अवैध तरीके से घुस चुके होंगे क्योंकि यह घोटाला कई सालों से चल रहा है और इसके बारे में अभी तक किसी को भनक नहीं थी।

इन तीनों को तस्करी रैकेट में शामिल होने के लिए इनर लंदन क्राउन कोर्ट में इस महीने सजा सुनाई जाएगी। गिरोह का एक सदस्य शरणार्थियों के पारिवार के सदस्यों के पास वास्तविक पासपोर्ट लेकर जाता था और उन्हें पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को सौंप देता था, ताकि वे हवाई अड्डे की सिक्योरिटी से आसानी से निकल सकें।

शरणार्थियों के सुरक्षित तरीरे से देश में पहुंच जाने के बाद गैंग के लोग पासपोर्ट ले लेते थे और उसे दोबारा नए समूहों और परिवारों को लंदन लाने के लिए उपयोग करते थे। माना जा रहा है कि गिरोह थाईलैंड से भी संचालित किया जा रहा है।

 

LEAVE A REPLY