ब्रिटेन के बिजलीघरों और हवाई अड्डों पर आतंकी हमले का खतरा

0
57

लंदन। ब्रिटेन में संसद के नजदीक हुए आतंकी हमले के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने परमाणु बिजलीघरों और हवाई अड्डों को सतर्क रहने की सलाह दी है।

साथ ही ऑनलाइन सिस्टम के प्रति भी सजग रहने के लिए कहा गया है, उनको हैक किये जाने का खतरा है। खुफिया सूत्रों के अनुसार ब्रिटेन में आतंकी संगठन आइएस के हमले का खतरा बना हुआ है।

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक आइएस और कुछ अन्य आतंकी संगठनों ने लैपटॉप, मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में फिट होने वाले बम तैयार कर लिये हैं।

इनका वे विमानों से लेकर अन्य संवेदनशील स्थानों पर इस्तेमाल करने की साजिश तैयार कर रहे हैं।

इसी के चलते अमेरिका और ब्रिटेन ने आठ मुस्लिम बहुल देशों से आने वाली विमान सेवाओं में लैपटॉप और मोबाइल लेकर आने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

आशंका यह भी है कि परमाणु बिजलीघरों के कंप्यूटर हैक करके वहां बर्बादी फैलाने का प्रयास किया जा सकता है। हैकिंग के जरिये परमाणु बिजलीघरों और परमाणु उद्योगों की खामियों का भी फायदा उठाया जा सकता है।

ब्रिटेन के ऊर्जा मंत्री जेसी नॉर्मन ने कहा है कि सरकार किसी भी साइबर अटैक को निष्फल करने के लिए तैयार है।

इसके लिए 1.9 अरब पाउंड (15,445 करोड़ रुपये) के खर्च से साइबर सिक्यूरिटी सिस्टम तैयार कर लिया गया है। सबसे ज्यादा खतरा देश के 15 परमाणु रिएक्टरों को है जहां से देश की 20 प्रतिशत बिजली की आपूर्ति होती है।

 

LEAVE A REPLY