ब्रिटेन में अब बुर्का पहनकर भी तैराकी कर सकेंगी मुस्लिम महिलाएं –

0
62

लंदन। ब्रिटेन में एक तैराकी प्रतियोगिता में भाग लेने वाली मुस्लिम महिलाओं को पूरे शरीर को ढंकने वाला बुर्किनी पहनकर तैरने की अनुमति मिल गई है।

मुस्लिम वूमन स्पोर्ट्‌स फाउंडेशन की अर्जी पर एमेच्योर स्वीमिंग एसोसिएशन (एएसए) ने नियमों में ढील देते हुए महिलाओं को ढीला पहनावा बुर्किनी पहनकर तैरने की अनुमति दी है।

वैसे यह पहनावा ओलंपिक खेलों में प्रतिबंधित है। नए नियम केवल शौकिया तौर पर होने वाली ब्रिटिश प्रतियोगिताओं में ही लागू होंगे।

अगर निर्णायक को लगता है कि पहनावे से प्रतियोगी को प्रदर्शन में किसी तरह की मदद मिल रही है तो नियम बदला भी जा सकता है।

इस खास पहनावे में प्रतियोगिता में भाग लेने से पहले मैच के रेफरी को संतुष्ट करना होगा कि बुर्किनी से अतिरिक्त लाभ तो नहीं हो रहा।

एएसए के चेयरमैन क्रिस बोस्टोक के मुताबिक यह संस्था का सकारात्मक कदम है और इससे आगे बढ़ने में मदद मिलेगी।

मुस्लिम वूमन स्पोर्ट्‌स फाउंडेशन की रिमला अख्तर के अनुसार मुस्लिम महिलाओं के बीच खेल की रुचि तेजी से बढ़ रही है।

ऐसे में प्रतियोगिता कराने वाली संस्थाओं को उन्हें शामिल करने के लिए पहनावे और स्थान को लेकर सकारात्मक रुख दिखाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि खेलों खासतौर पर तैराकी में मुस्लिम महिलाओं का पहनावा काफी समय से चर्चा में बना हुआ है।

मुस्लिम कट्टरपंथी स्वीमिंग सूट में महिलाओं के तैरने पर आपत्ति जताते हैं तो फ्रांस सहित कई यूरोपीय देश बुर्किनी पहनने पर इस आधार पर रोक लगाए हुए हैं कि इससे भेदभाव पैदा होता है। महिलाओं की आजादी बाधित होती है।

 

LEAVE A REPLY