मध्यप्रदेश विधानसभा – बच्चों का भविष्य खराब नहीं होने देंगे: शाह

0
61

भोपाल।मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने विधानसभा में घोषणा की कि सीधी जिले के अमीलिया के जागृति शिक्षा निकेतन हाई स्कूल के संचालक अजय सिंह के खिलाफ पुलिस में आज ही एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। शाह ने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के कमलेश्वर पटेल की ध्यानाकर्षण सूचना का उत्तर देते हुए यह घोषणा की।
पटेल ने ध्यानाकर्षण सूचना के माध्यम से इस स्कूल के 47 बच्चों के 10वीं की परीक्षा से वंचित होने का मामला उठाया था। उन्होंने दोषी स्कूल प्रबंधन और अधिकारियों पर कार्रवाई का अनुरोध किया था। उनका कहना था कि स्कूल संचालक अजय सिंह की लापरवाही के कारण ऐसा हुआ है। मंत्री शाह ने उत्तर देते हुए कहा कि बच्चों का भविष्य बर्बाद नहीं होने दिया जाएगा। उन्हें ओपन स्कूल की परीक्षा में बैठाया जाएगा। वे नियमित विद्यार्थी ही माने जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश में जो स्कूल संचालक ऐसा काम करेंगे, उन पर कार्रवाई की जाएगी।
बाबूलाल गौर ने उठाया भेल को आवंटित जमीन पर निगम को काम नहीं करने देने का मामला
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने मंगलवार को विधानसभा में राज्य सरकार द्वारा यहां स्थित भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) को आवंटित जमीन पर नगर निगम को निर्माण कार्य नहीं करने देने का मामला उठाया। इस संबंध में उन्होंने राज्य सरकार से हस्तक्षेप का अनुरोध किया है।
वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने शून्यकाल में यह मामला उठाते हुए कहा कि भेल अपने क्षेत्र में नगर निगम को निर्माण कार्यों की अनुमति प्रदान नहीं करता है। जबकि राज्य सरकार ने यह जमीन भेल को लीज पर दी है। उन्होंने राज्य सरकार से अनुरोध किया कि वह इस संबंध में भेल प्रशासन को आवश्यक दिशा निर्देश दे।
शून्यकाल में ही कांग्रेस के हर्ष यादव ने हाल ही में सागर जिले में एक सड़क दुर्घटना में चार यात्रियों की मौत और कुछ अन्य के घायल होने का मामला उठाया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस प्रशासन इन प्रभावितों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। सरकार पुलिस को ऐसा करने से रोके।
प्रदेश में प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराया जाए
सभापति कैलाश चावला ने सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य को निर्देश दिए कि प्रदेश में प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराया जाए। सामान्य प्रशासन एवं विमानन विभाग की अनुदान मांगों पर चर्चा के दौरान आसंदी पर आसीन चावला ने यह निर्देश दिए। चर्चा के दौरान मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के कमलेश्वर पटेल ने कहा कि विभिन्न सरकारी बैठकों में जनप्रतिनिधियों के साथ प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया जाता। सभापति चावला ने आर्य से इसे सुनिश्चित कराने की व्यवस्था दी। इस पर मंत्री आर्य ने हामी भरी।
  दलित वर्ग से भेदभाव का आरोप
इससे पहले कांग्रेस के ओमकार सिंह मरकाम ने अनुदान मांगों पर चर्चा की शुरुआत की। दलित वर्ग से भेदभाव का आरोप लगाते हुए आईएएस अधिकारी शशि कर्णावत का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि सरकार उन्हें पदस्थापना नहीं दे रही है। उन्होंने अनुरोध किया कि यहीं से उनकी पदस्थापना की घोषणा की जाए। चर्चा में भारतीय जनता पार्टी के यशपाल सिंह सिसोदिया और पुष्पेंद्र नाथ पाठक ने अनुदान मांगों का समर्थन करते हुए सरकार के कामकाज की तारीफ की।

LEAVE A REPLY