विकीलीक्स का दावा— CIA कर रहा है फोन और टीवी के जरिये आपकी जासूसी

0
86

विकीलीक्स ने दावा किया है कि अमेरिकी जांच एजेंसी CIA लोगों के स्मार्टफोन और सैमसंग स्मार्ट टीवी का इस्तेमाल जासूसी करने के लिए करता है। विकीलीक्स के अनुसार सीआईए ब्रिटेन के इंटेलिजेंस ऑफिशियल के साथ मिलकर टीवी का माइक्रोफोन चालू कर देते हैं ताकि वह लोगों की बातें सुन सकें। बता दें कि सैमसंग के स्मार्टटीवी में माइक्रोफोन की सुविधा होती है, ताकि यूजर्स वॉयस कमांड के जरिए इसे कंट्रोल कर पाएं। यह कमांड तभी दी जा सकती है जब टीवी चल रहा हो, बंद टीवी पर यह काम नहीं करता।

www.jansatta.com के मुताबिक हालांकि विकीलीक्स ने दावा किया है कि इसे मिले दस्तावेजों से पता लगा है कि Weeping Angel नाम के एक टीवी प्रोग्राम के जरिए टीवी दिखाई देगा कि बंद है लेकिन वास्तव में यह आपकी बातें सुन रहा होगा। विकीलीक्स ने कहा कि टीवी की ऑडियो सैमसंग के आधिकारिक सर्वर में जाने की जगह यह सीआईए के सर्वर में जाती है। कई मामलों में यह ऑडिया सिर्फ एक टीवी कमांड नहीं होती, बल्कि रोजमर्रा की बातें भी होती हैं।

दरअसल विकीलीक्स ने हजारों की संख्या में दस्तावेज प्रकाशित किए हैं और उसका दावा है कि ये सभी दस्तावेज अमेरिकी जांच एजेंसी सीआईए के सेन्टर फॉर साइबर इंटेलिजेंस से लिये गए हैं। प्रकाशित दस्तावेज अमेरिका की साइबर जासूसी करने वाली संस्था के बारे में अंदरूनी जानकारी मुहैया कराते हैं। फिलहाल इन दस्तावेजों के वास्तविक होने की पुष्टि नहीं की जा सकती और सीआईए ने टिप्पणी करने से मना कर दिया है। लेकिन विकीलीक्स लंबे समय से सरकार के गोपनीय दस्तावेजों को सार्वजनिक करता रहा है।

दस्तावेजों का अध्ययन कर रहे विशेषज्ञों का कहना है कि ये सभी सही लगते हैं और इनका सार्वजनिक होना सीआईए को हिला कर रख देगा। जॉर्जिया के रेंडिशन इंफोसक अगस्ता से जुड़े सुरक्षा विशेषज्ञ जेक विलियम्स का कहना है, ‘‘इसपर कोई सवाल ही नहीं है कि फिलहाल इससे निपटने का काम चल रहा है।’’ ‘‘मुझे कोई आश्चर्य नहीं होगा यदि फिलहाल कुछ लोग अपना करियर बदल दें या उनका करियर खत्म हो जाये।’ यदि सभी दस्तावेज सही साबित होते हैं तो यह विकीलीक्स और उसके सहयोगियों के हाथों अमेरिकी खुफिया एजेंसियों की और एक हार होगी। पिछले करीब एक महीने से इस लीक के बारे में संकेत दे रही विकीलीक्स ने एक लंबे-चौड़े बयान में कहा कि सीआईए ने ‘‘हाल ही में’’ अपने हैकिंग टूल का बड़ा हिस्सा खो दिया है और उससे जुड़े दस्तावेज भी गंवा दिये हैं। सीआईए के एक प्रवक्ता जॉनथन लियू का कहना है, ‘‘खबरों में आये खुफिया दस्तावेजों के सही होने या उसकी सामग्री पर हमें कोई टिप्पणी नहीं करनी।

LEAVE A REPLY