शिवपाल बोले, सपा के घमंड की हार तो राज बब्बर ने बताया वक्त की मार

0
60

लखनऊ )। उत्तर प्रदेश में  सत्रहवीं विधानसभा के गठन के लिए मिले जनादेश को समाजवादी पार्टी के नेता शिवपाल सिंह यादव ने पार्टी के घमंड की हार बताया है। उत्तर प्रदेश के चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर मैदान में उतरी कांग्रेस के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष राज बब्बर ने इस हार को वक्त की मार बताया है।
इटावा की जसवंतनगर विधानसभा की अपनी परंपरागत सीट से मैदान में उतरे शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी के खराब प्रदर्शन का अहम कारण पार्टी की घमंड कर प्रवृति को बताया। सपा की करारी हार होते ही शिवपाल सिंह यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर करारा वार किया है। शिवपाल ने मीडिया में बयान देते हुए कहा है कि यूपी में समाजवादियों की नहीं बल्कि घमंड की हार हुई है। उन्होंने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि मेरा अपमान किया गया। नेता जी (मुलायम सिंह यादव) का अपमान किया गया। इसी कारण समाजवादी पार्टी को हार मिली है। इटावा की जसवंतनगर विधानसभा शिवपाल ने भाजपा के उम्मीदवार मनीष यादव को करीब ३५ हजार से अधिक वोटों से पराजित किया है। जीत दर्ज करके शिवपाल ने अपने बयान में कहा कि उनको जनता ने बहुत ही स्नेह दिया है।
कभी सपा के प्रमुख स्तम्भ रहे शिवपाल इस बार पार्टी के स्टार कैंपेनर भी नहीं थे। उनकी पूरी तरह से उपेक्षा की गई थी। समाजवादियों की नहीं, घमंडी लोगों की हार हुई है। प्रदेश की जनता ने उन लोगों को सबक सीखा दिया है, जिन्होंने घमंड में आकर मेरा अपमान किया और नेताजी को हटाया। शिवपाल सिंह यादव पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि ११ मार्च को नई पार्टी बना सकते हैं। पिछले साल चाचा शिवपाल सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव के बीच मनमुटाव सामने आई थी। टिकट बंटवारे को लेकर झगड़ा बढऩे पर अखिलेश यादव ने उन्हें सरकार और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया था। उसके बाद से ही शिवपाल यादव बेहद नाराज दिख रहे थे इस झगड़े के बाद से शिवपाल यादव और मुलायम सिंह यादव ने पार्टी के लिए प्रचार नहीं किया था।
समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन के पक्ष में नहीं रहे राज बब्बर कांग्रेस कार्यालय में अपने समर्थकों के साथ चुनाव परिणाम देख रहे थे। राज बब्बर ने कहा कि यह हार तो वक्त की मार है। हमको अब एक बार फिर कार्यकर्ता के साथ ही पार्टी के किनारे किए गए जमीनी नेताओं के साथ बैठक करनी होगी।

LEAVE A REPLY