शिव-साधना ने मनाई मोदीमय बृज की होली

0
57

भोपाल। फागुन का महीना मस्ती और उमंग का होता है। होलिका दहन के बाद धुरेंडी का खुमार अभी उतरा भी नहीं है और रंगपंचमी की तैयारियों के साथ होली मिलन कार्यक्रमों का आगाज हो चुका है। ऐसा ही एक होली मिलन समारोह गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित किया गया।
इस कार्यक्रम में श्रीकृष्ण की प्राक्ट्य स्थल से आए कलाकारों की प्रस्तुति आकर्षण का मुख्य केन्द्र रही। होली के इस रंगारंग कार्यक्रम को मोदीमय केसरिया होली के रूप में दर्शकों ने खूब सराहा। यह कार्यक्रम उत्तर प्रदेश में भाजपा का मिली ऐतिहासिक जीत के उत्सव के रूप में मनाया गया। होली के मस्ती भरे माहौल में मुख्यमंत्री निवास पर संपन्न हुए होली मिलन समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक शामिल हुए और फूलों की होली के आनंद में झूमे। इस समारोह मेंं मंत्री रामपाल सिंह, राज्य मंत्री विश्वास सारंग, महापौर आलोक शर्मा, विधायक रामेश्वर शर्मा, सुरेन्द्र नाथ सिंह, पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष तपन भौमिक, भोपाल विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष ओम यादव, नगर निगम अध्यक्ष सुरजीत सिंह चौहान एवं खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिव चौबे के साथ अन्य गणमान्य नागरिकों ने बृज की होली का आंनद लिया। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री अपने राजधर्म का पालन करते हुए सभी पर्वों और त्यौहारों को प्रदेश की जनता के साथ मनाते हैं, चाहे होली, दीवाली हो या ईद या क्रिसमस, सभी पर्वों को लोगों के साथ अपने निवास पर मनाते हैं।

यही कारण है कि प्रदेश की जनता के जननेता के रूप में ख्यातिलब्ध होकर वे मुख्यमंत्री होते हुए भी सर्व सुलभ हैं।  आज के इस समारोह में जहां एक ओर बृज के कलाकारों द्वारा राधा-कृष्ण की रासलीला के साथ गोपियों की फूलों की होली की के साथ भगवान भोलेनाथ की मसान होली की प्रस्तुति दी गई, वहीं दूसरी ओर उपस्थित लोगों को बृज में होने की अनुभूति हुई। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों ने आयोजन की भूरि-भूरि प्रशंसा की।
शिव-साधना ने प्रदेश की जनता के साथ मनाते हैं, चाहे होली, दीवाली हो या ईद या क्रिसमस, सभी पर्वों को लोगों के साथ अपने निवास पर मनाते हैं। यही कारण है कि प्रदेश की जनता के जननेता के रूप में ख्यातिलब्ध होकर वे मुख्यमंत्री होते हुए भी सर्व सुलभ हैं।
आज के इस समारोह में जहां एक ओर बृज के कलाकारों द्वारा राधा-कृष्ण की रासलीला के साथ गोपियों की फूलों की होली की के साथ भगवान भोलेनाथ की मसान होली की प्रस्तुति दी गई, वहीं दूसरी ओर उपस्थित लोगों को बृज में होने की अनुभूति हुई। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों ने आयोजन की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

LEAVE A REPLY