सरकार ने माना, कर्ज न चुका पाने से किसान ने की आत्महत्या

0
155

भोपाल। किसानों की आत्महत्या के मामले में प्रदेश सरकार ने पहली बार माना है कि फसल खराब होने और कर्ज न चुका पाने की वजह से भी किसान आत्महत्या कर रहे हैं। पिछले तीन महीने में प्रदेश में 1761 लोगों ने आत्महत्या की। इनमें से एक किसान ने फसल खराब होने पर कर्ज न चुका पाने के कारण खुदकुशी की। कुल 106 किसानों ने इस अवधि में अपनी जान दी।

सोमवार को कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत के सवाल के लिखित जवाब में गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने विधानसभा में यह जानकारी दी। आत्महत्या के कुल मामलों में 181 कृषि मजदूर व 160 विद्यार्थी शामिल हैं। एक अन्य प्रश्न के जवाब में गृह मंत्री ने बताया कि पिछले 7 महीनों के दौरान 2411 महिलाएं दुष्कर्म की शिकार हुईं हैं।

वहीं पिछले तीन महीने में 1761 लोगों ने खुदकुशी की। गृह मंत्री के मुताबिक 349 लोगों ने पारिवारिक कारण, 284 ने मानसिक तनाव, 104 ने नशे की वजह से, 45 लोगों ने प्रेम प्रसंग के चलते आत्महत्या की है। मंत्री के अनुसार 504 मामलों में आत्महत्या के कारणों की जांच जारी है।

दुष्कर्म की घटनाएं

प्रदेश में पिछले सात महीने के दौरान 2411महिलाएं दुष्कर्म की शिकार हुईं हैं। इसमें 2400 प्रकरण दर्ज किए गए। वहीं 140 महिलाएं सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुईं। इन मामलों में 137 प्रकरण दर्ज किए गए। गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने रामनिवास रावत के सवाल के लिखित जवाब में बताया कि जुलाई 2016 से अब तक दुष्कर्म की शिकार हुईं महिलाओं में 1136 बालिग व 1275 नाबालिग हैं।

 

LEAVE A REPLY