सरवटे बस स्टैंड पर कार्टन में मिले 24 देशी-विदेशी कछुए

0
37

इंदौर। सरवटे बस स्टैंड पर देशी-विदेशी कछुओं से भरा लावारिस कार्टन मिलने के बाद एक ठेला चालक उसे लेकर 24 घंटे थाने के चक्कर लगाता रहा, लेकिन पुलिस हमारा मामला नहीं है कहकर टालती रही। बाद में वन विभाग के अफसरों को सूचना देने के बारह घंटे बाद अधिकारी पहुंचे और कछुए जब्त किए। वन अफसर अब घटना को तस्करी से जोड़कर जांच में जुटे हैं। अफसरों ने लापरवाही बरतने पर रेंजर को नोटिस जारी किया है।

रविवार रात 10 बजे सरवटे बस स्टैंड पर अंडे बेचने वाले विशाल को लावारिस हालत में ठेले के पास एक कार्टन मिला। काफी देर मालिक का इंतजार करने के बाद वह उसे घर ले गया। सोमवार को जब कार्टन खोला तो उसमें कछुए भरे थे। यह बात उसने पिता को बताई, जो स्कूली बच्चों को ऑटो से छोड़ने का काम करते हैं। वे छोटी ग्वालटोली थाने पहुंचे। पहले पुलिसकर्मियों ने शाम को आने का कहा, लेकिन जब पुलिस अधिकारियों ने कछुए देखे तो उन्हें वन विभाग को सौंपने की बात कही।

सूचना वन विभाग एसडीओ आरएन सक्सेना और चिड़ियाघर प्रभारी डॉ. उत्तम यादव को दी गई। एसडीओ सक्सेना ने सोमवार रात कछुओं को जब्त करने की जिम्मेदारी इंदौर रेंजर खुर्शीद खान को दी। विभाग की तरफ से कोई नहीं आया तो विशाल दोबारा अपने घर कछुए लेकर चला गया। फिर मंगलवार सुबह थाने पहुंचा। सुबह 11 बजे रेंजर कछुए जब्त करने आए। रेंजर की देरी पर एसडीओ ने नाराजगी जताई। जब्ती के बाद कोर्ट की अनुमति से कछुओं को चिड़ियाघर को सौंप दिया गया।

कछुओं को जब्त करने में रेंजर की लापरवाही सामने आई है। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर नोटिस देकर जवाब मांगा है। वैसे यह मामला तस्करी से जुड़ा है। जांच के लिए संबंधित रेंज को निर्देश दे दिए हैं। तस्‍करों का जल्‍द ही पता लगाया जाएगा।

आरएन सक्‍सेना, एसडीओ, इंदौर वनमंडल

LEAVE A REPLY