13 साल की नौकरी में 9वां ट्रांसफर, महिला अधिकारी ने PM को लिखा खत

0
86

मध्य प्रदेश राजस्व विभाग की महिला अधिकारी अमिता सिंह तोमर ने प्रदेश सरकार द्वारा बार-बार किए जा रहे अपने तबादले से परेशान होकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीसे इस मामले में हस्तक्षेप करने की गुहार लगाई है.

तहसीलदार अमिता का दो दिन पहले ही राजगढ़ जिले की ब्यावरा तहसील से सीधी जिले में तबादला किया गया है. यह उसकी 13 साल की नौकरी के दौरान नौवां तबादला है. अब तक वह प्रदेश के विभिन्न जिलों की 25 तहसीलों में काम कर चुकी हैं.

राजगढ़ जिले की ब्यावरा तहसील में पदस्थ महिला तहसीलदार अमिता ने बताया, ‘मैंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मेरा बार-बार तबादला करने के मामले में हस्तक्षेप कर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है.’

उन्होंने कहा, ‘13 साल की नौकरी के दौरान यह मेरा नौवां तबादला हुआ है. इसके अलावा मुझे अब तक 25 तहसीलों में काम करने के लिए शिफ्ट भी किया गया है.’  ‘कौन बनेगा करोड़पति’ में 50 लाख रुपये जीतने एवं फेसबुक में विवादित टिप्पणी करने के बाद सुर्खियों में रही अमिता ने बताया, ‘मैंने राज्य सरकार से मांग की थी कि मेरे स्वयं के व्यय से मेरा स्थानांतरण मेरे गृह जिले ग्वालियर में किया जाए, लेकिन सरकार ने दो दिन पहले मेरा तबादला 500 किमी दूर सीधी में कर दिया गया है.’

उन्होंने आरोप लगाया कि ब्यावरा में उन्होंने जिन प्रभावशाली लोगों का अतिक्रमण हटाया था, उनके कहने पर सरकार ने उनका तबादला किया है.

सिंहस्थ कुंभ मेला के दौरान एवं अन्य कई अवसरों पर अच्छे काम के लिए प्रमाण-पत्र, पुरस्कार एवं मेडल पाने वाली अमिता ने कहा, ‘केवल तीन महीने पहले ही मुझे ब्यावरा में भेजा गया था. अब मेरा तबादला सीधी कर दिया गया है. मैंने अपने तबादले के बारे में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा प्रदेश के मुख्य सचिव एवं राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव को भी पत्र लिखा है.’

उन्‍होंने कहा, ‘तब से लोग मुझे केबीसी वाली मैडम कहते थे, लेकिन बार-बार हो रहे तबादलों के कारण मुझे ट्रांसफर वाली मैडम कहा जाने लगा. मुझे मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है.’

अमिता ने बताया कि अधिकांश तहसीलदारों की पूरी नौकरी 2-4 जिलों में ही पूरी हो जाती है, लेकिन मुझे 13 साल में 25 तहसीलों में शिफ्ट कर दिया गया, जिनमें नौ तबादले शामिल हैं.

LEAVE A REPLY