PEB : पास होने के लिए गलत तरीका अपना तो नहीं दे पाएंगे परीक्षा

0
122

भोपाल। लंबे समय से फर्जीवाड़े के कारण विवादों में रहा व्यावसायिक परीक्षा मंडल (पीईबी) अब नई व्यवस्था लागू करने जा रहा है। इसके तहत अगर कोई भी व्यक्ति किसी अभ्यर्थी के परीक्षा में पास होने के लिए पीईबी कर्मचारियों से संपर्क करता है, तो उसकी परीक्षा में शामिल होने पात्रता समाप्त कर दी जाएगी। उक्त अभ्यर्थी को परीक्षा में नहीं बैठने दिया जाएगा।

पीईबी के कुछ कर्मचारियों के पास किसी न किसी के माध्यम से इस तरह के कॉॅल आए हैं, जिसमें उन्होंने किसी अभ्यर्थी को पास करने या नंबर बढ़ाने की गुजारिश की है और कई बार दबाव डाला है। कर्मचारियों के मना करने के बाद भी ये लोग उन्हें परेशान करते हैं। पीईबी के अधिकारियों ने कर्मचारियों को स्पष्ट कहा है कि जिस अभ्यर्थी के लिए उन्हें फोन किया जा रहा है, इसकी जानकारी तत्काल दें। शिकायत सही मिलने पर उक्त अभ्यर्थी को संबंधित परीक्षा में शामिल ही नहीं होने दिया जाएगा।

करते हैं साजिश

जानकारी के मुताबिक कई लोग कर्मचारियों से नंबर बढ़ाने के लिए कहते हैं। कर्मचारियों के मना करने के बावजूद वे इनका पीछा नहीं छोड़ते हैं और कहीं न कहीं से लिंक निकलवाकर कॉल करवाते हैं। ऐसी दशा में कई बार कर्मचारी पीछा छुड़ाने के लिए ‘हां, देखते हैं’ कह देते हैं। जबकि, इनकी कोई जुगाड़ नहीं लग पाती है। ऐसे में पास होने की जुगाड़ लगवाने वाले लोग कर्मचारियों को ही कहने लगते हैं कि उन्होंने हां कहा था पर कुछ किया नहीं। कई बार वे रिकॉर्डिंग होने का दावा कर उन्हें धमकाते हैं। इस तरह के कुछ सामने संज्ञान में आए हैं।

सतर्कता प्रकोष्ठ करेगा जांच

पीईबी के अधिकारियों ने बताया कि अगर कोई पास होने या नंबर बढ़ाने के लिए पीछे पड़ा है या कॉल करता है तो उसकी शिकायत तत्काल सतर्कता प्रकोष्ठ को करें। जिस रोल नंबर या अभ्यर्थी के लिए कॉल किया गया है वे उसकी जांच करेंगे कि वाकई यह सही है या नहीं।

इतने रोल नंबर में कोई कर्मचारी किसी से व्यक्गित दुश्मनी निकालकर शिकायत नहीं करेगा। इसके बावजूद उक्त फोन नंबर पर यह पता लगाया जाएगा कि उनका नंबर बढ़वाने का प्रयास है या नहीं। इसके बाद उक्त अभ्यर्थी को परीक्षा में बैठने ही नहीं दिया जाएगा। उसकी पात्रता ही समाप्त कर दी जाएगी। सतर्कता प्रकोष्ठ को भी एक सप्ताह में इसकी रिपोर्ट करना होगी।

इनका कहना है

परीक्षा में नंबर बढ़ाना किसी के लिए संभव नहीं है क्योंकि सुरक्षा मानक बहुत मजबूत हैं। बावजूद इसके ऐसे मामले सामने आए हैं जब कुछ लोग नंबर बढ़ाने के लिए कर्मचारियों को किसी न किसी के माध्यम से फोन लगवाकर या सीधे मिलकर परेशान करते हैं। ऐसे अभ्यर्थियों को परीक्षा में नहीं बैठने दिया जाएगा। – भास्कर लाक्षाकार, संचालक, पीईबी

 

LEAVE A REPLY