RBI के कर्मचारी के जरिये बदलवाने थे 20 करोड़

0
126

दिल्ली। नोट बदली के मामले में क्राइम ब्रांच द्वारा मंगलवार को जनकपुरी से दबोचे गए अनिल जैन व उसके साथी सुशील जैन से कई अहम जानकारी मिली है। अनिल जैन को आरबीआइ के एक कर्मचारी के जरिये करीब 20 करोड़ रुपये बदलवाने थे। 50 फीसद कमीशन पर डील हुई थी। इसके एवज में अनिल ने आरबीआइ कर्मचारी को 2 लाख रुपये भी दे दिए थे।

क्राइम ब्रांच के अधिकारी के मुताबिक अनिल जैन व सुशील जैन से क्राइम ब्रांच के चाणक्यपुरी स्थित इंटर स्टेट सेल के कार्यालय में पूछताछ की जा रही है। आयकर विभाग के आठ अधिकारियों ने भी बुधवार को क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचकर दोनों से 4 घंटे पूछताछ की। अभी दोनों हिरासत में हैं। बृहस्पतिवार को दोनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। कोर्ट अगर इनके खिलाफ मुकदमा कर गिरफ्तार करने को कहेगा तब पुलिस गिरफ्तार करेगी। अनिल जैन जनकपुरी और सुशील जैन बुध विहार का रहने वाला है। अनिल का चिट फंड का काम है जबकि सुशील जैन का स्टील का कारोबार है।

दरअसल सुशील जैन ने अनिल जैन को आरबीआइ के एक कर्मचारी से परिचय कराते हुए कहा था कि उक्त शख्स उसके पुराने नोटों को बदलवा देगा। तीनों की कुछ दिन पहले जनकपुरी में ही एक होटल में मीटिंग हुई थी। आरबीआइ के कर्मी ने अनिल से कहा था कि उसकी आरबीआइ के अधिकारियों से अच्छी जान पहचान है।

डील में यह बात हुई कि आरबीआइ का कर्मचारी ही आरबीआइ की कैश वैन से अनिल जैन के पुराने नोट ले जाएगा और उसे नए नोट बदल कर दे जाएगा। वैन लाने व पैसे बदलवा देने के एवज में आरबीआइ कर्मी ने अनिल जैन से बतौर कमीशन अलग से 2 लाख रुपये की मांग की। जिसपर अनिल ने उसे उसी दिन 2 लाख रुपये दे दिए थे।

पुलिस के मुताबिक डील तय हो जाने पर अनिल जैन ने दिल्ली के कुछ खास परिचितों से संपर्क कर पुराने नोट बदलवाने के लिए पूछा। जिसपर कई लोग तैयार हो गए। मंगलवार को कुछ लोगों ने अनिल जैन को 4.15 करोड़ पुराने नोट भेज भी दिए। उक्त रकम को एक्सयूवी 500 कार की डिग्गी में4 बैग में रखकर सुशील जैन के साथ अनिल जैन जब शाम के समय अपने घर जा रहा था। तभी जनक प्लेस मॉल के पास क्राइम ब्रांच ने दोनों को दबोच लिया

 

LEAVE A REPLY