Z+ स‍िक्युर‍िटी के साथ अब योगी की सुरक्षा में एनएसजी की QRT टीम भी

0
46
लखनऊ.योगी आदित्यनाथ पर बढ़ते खतरे को देखते हुए उनकी सुरक्षा और बढ़ाने का फैसला लिया गया है। अभी उन्हें जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। सूत्रों के मुताबिक, अब नेशनल स‍िक्युरिटी गार्ड (NSG) की क्विक रेस्पॉन्स टीम (QRT) टीम भी उनकी सुरक्षा में तैनात होगी। बता दें कि कुछ दिनों पहले ऐसी खबरें आई थीं कि लंदन में कुछ कश्मीरी आतंकियों ने योगी और नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रची है।
– फिलहाल, सीएम योगी को NSG के 35 कमांडो दिए गए हैं, जो उन्हें मोबाइल सिक्युरिटी दे रहे हैं। इसमें एक वक्त में 7 कमांडो तैनात रहते हैं। हालांकि, अब इन कमांडोज के अलावा QRT टीम भी योगी की हिफाजत में तैनात रहेगी। होम मिनिस्ट्री ने कुछ दिन पहले ही इसका फैसला लिया था।
लंदन में रची गई योगी की हत्या की साजिश
– कुछ दिनों पहले पहले खबर आई थी कि पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर आतंकी हमले की साजिश रची जा रही है। द एशियन एज अखबार ने खुफिया एजेंसियों के हवाले से बताया था कि लंदन में बैठे कुछ कश्मीरी आतंकी ये साजिश रच रहे हैं। खुफिया एजेंसियों से मिले इस इनपुट के बाद सिक्युरिटी अलर्ट जारी कर दिया गया है।
– अखबार ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि करीब 10 से ज्यादा ट्रेंड आतंकी यूपी में दाखिल हो चुके हैं। स्लीपर सेल की मदद से फिलहाल वह अंडरग्राउंड हैं। इस अलर्ट के बाद यूपी के सभी डीएम और एसपी को खास इंस्ट्रक्शन दिए गए हैं।
देश में 298 वीवीआईपी को सुरक्षा
– देश में 298 वीवीआईपी को अलग-अलग कैटेगरी की सुरक्षा मिली हुई है। Z+ सिक्युरिटी कवर के अंदर 26 वीवीआईपी, Z सिक्युरिटी कवर के अंदर 58 वीवीआईपी, Y+ सिक्युरिटी कवर के घेरे में 144 वीआईपी, Y सिक्युरिटी में 2 वीआईपी, X सिक्युरिटी के अंदर 68 वीआईपी को सुरक्षा दी जा रही है।
दो द‍िन पहले यूपी से 10 संदिग्ध आतंकी पकड़े गए थे
– 20 अप्रैल को यूपी एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) ने 5 राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर ज्वाइंट ऑपरेशन में ISIS के 10 संदिग्ध आतंकियों को पकड़ा था। यूपी ATS के मुताबिक, ISIS के खुरासान मॉड्यूल से जुड़े 4 संदिग्ध आतंकियों को अरेस्ट किया गया। इन पर बड़े आतंकी हमले की साजिश का आरोप है। वहीं, 6 और लोगों को भी हिरासत में लिया गया है।
– 20 अप्रैल की सुबह मुंब्रा (महाराष्ट्र), जालंधर (पंजाब), नरकटियागंज (बिहार), बिजनौर और मुजफ्फरनगर (यूपी) में छापा मारा गया। दिल्ली स्पेशल सेल, यूपी और महाराष्ट्र ATS के अलावा आंध्र प्रदेश, पंजाब और बिहार की पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया था।
एनकाउंटर में मारा गया था संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह
– इसी साल 7 मार्च की सुबह एमपी के शाजापुर में भोपाल-पैसेंजर ट्रेन में IED ब्लास्ट हुआ था। इसमें 10 लोग जख्मी हुए थे। ब्लास्ट के बाद दोपहर को एमपी पुलिस ने पिपरिया के एक टोल नाके से बस रोककर 4 सस्पेक्ट पकड़े। इनकी गिरफ्तारी के बाद यूपी एटीएस ने कानपुर से दो और इटावा से एक संदिग्ध को अरेस्ट किया था।
– इन संदिग्धों से मिली इन्फॉर्मेशन और इंटेलिजेंस इनपुट के बाद यूपी एटीएस ने लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह के खिलाफ कार्रवाई की थी। यह एक घर में छुपा हुआ था। एटीएस ने पहले सैफुल्लाह को सरेंडर करने के लिए कहा था। बाद में 11 घंटे चले एनकाउंटर के बाद उसे मार गिराया। उसके पास से 8 रिवॉल्वर, 650 कारतूस, कई बम और रेलवे का मैप मिला था

LEAVE A REPLY